Thursday 8 March 2012

मेरी फुगाँ की तरज पर उसने ग़ज़ल कह डाली बज़्म में
अब किस किस का हिसाब रखें, यहाँ जो मिला दर्द दे गया कोई ...

No comments:

Post a Comment