Thursday 19 May 2011

रिश्तों को इतना भी मत बिगाड़ो के दोस्ती ख़तम हो जाए,
कभी कहीं महफ़िल में मिलें, तो आँख भी ना मिला पायें ..

No comments:

Post a Comment