Friday 21 March 2014

तुम नज़र अंदाज़ करोगे तो हम दरकिनार कर देंगे
नाज़ उठा सकते हैं तुम्हारे, नखरे मगर तौबा तौबा ...
हर बात पर चुटकी लेते हो, हर बात पर छेड़ देते हो
बाज़ आते नहीं, और उसपे ये मिजाज़ तौबा तौबा ...

1 comment: