Friday 21 March 2014

बेदखल भी तो नहीं करते मुझे अपनी ज़िंदगी से
बस एक बार इतना कह दो के तुम मेरी कोई नहीं..

No comments:

Post a Comment