Friday 21 March 2014

हम ज़िदा हैं और मर भी गए
सब उसकी नज़र का करम है
वो प्यार से देखे तो सितम है
और न देखे, तो भी सितम है

No comments:

Post a Comment