Thursday, 28 August, 2008

जन्मदिन मुबारक

मेरी दुआओं का काफिला निकल पड़ा तेरी रहगुज़र को
शादमानी बिखेरता हुआ, रफ्ता रफ्ता राहों में तेरी
खुदा आपको ज़माने भर की इनायतें बख्शे ता-उम्र
बस इतनी सी गुजारिश है उस परवरदिगार से मेरी

No comments:

Post a Comment