Thursday, 28 August, 2008

सलाम

दोस्त को सलाम
दोस्ती को सलाम,
दोस्तों की हर
ख़ुशी को सलाम
जिंदगी के हर मोड़ पे
गुज़रती जिंदगी को सलाम
तेरे जैसे अपने की
सादगी को सलाम,
नाराज़गी को छोड़ने पे
तेरी जिन्दादिली को सलाम

1 comment: