Friday, 29 August, 2008

आज कहने दो....


इस दिल में कितने अरमान मचलते हैं
हर रोज़ हम कितनी बार तुमपे जीते हैं
और तुम पर ही  तो रोज़ मरते हैं

कितनी बार सांस लेते हैं याद नहीं
जितनी बार भी मगर सांस लेते हैं
हर सांस हर वक़्त तेरे नाम करते हैं

न अहसास होता है सर्द हवाओं का
न ही कभी गर्मी की लू सताती है
तेरे नाम से बस बारिश को याद करते हैं

4 comments:

  1. न करूं टिप्पणी तो पोस्ट से दुराग्रह होगा

    ReplyDelete
  2. कितनी बार सांस लेते हैं याद नहीं
    हर सांस मगर तेरे नाम करते हैं
    acha hai jari rahe

    ReplyDelete
  3. jidhar bhi dekhoon bs toon hi toon hai teri see khushabu na teri see boo hai .

    ReplyDelete
  4. kitna bhi chupao par dil ki bat jubamn par aa hi jati hai...
    kitna bhi chupao par aapki yaad fir aa hi jati hai

    ReplyDelete